Breaking News
Loading...

स्पेशल

आरक्षण के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने को तैयार हैं मध्यप्रदेश के अफसर

दिनेश गुप्ता  दिल्ली के आईएएस अधिकारी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगा रहे हैं कि उन्हें राजनीतिक कारणों से निशाना बनाया जा रहा है लेकिन, मध्यप्रदेश के अफसर पदोन्नति में आरक्षण के मुद्दे के खिलाफ राजनीति के मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं. पिछले दो साल से पदोन्नति में ...

Read More »

ममता का केजरीवाल को समर्थन, तीसरे मोर्चे के नेता के रूप में खुद को पेश करने की कवायद

संजय सिंह  ममता बनर्जी ने काफी स्मार्ट तरीके से अरविंद केजरीवाल के धरने का इस्तेमाल करते हुए प्रस्तावित ‘फेडरल फ्रंट’ के नेतृत्व के लिए खुद को आगे ला खड़ा किया है. उन्होंने पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री के धरने के समर्थन में अलग-अलग पार्टियों और विचारधारा के तीन मुख्यमंत्रियों (चंद्रबाबू नायडू, ...

Read More »

अमरनाथ यात्रा पर आतंकियों की बुरी नजर, LeT दे रहा है नए आतंकी लड़ाकों को ट्रेनिंग

अनूप कुमार मिश्र नई दिल्‍ली। अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकी संगठन किसी भी कीमत पर बड़े हमलों को अंजाम देने की फिरांक में हैं. अपनी नापाक साजिश को अमलीजामा पहनाने के लिए आतंकी संगठनों ने एक तरफ कश्‍मीर के युवाओं को बरगलाकर आतंकी बनाने में जुटे हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ पाक ...

Read More »

नए प्रोडक्ट के लिए जूझ रहा है अरविंद केजरीवाल का पॉलिटिकल स्टार्टअप

पीयूष बबेले नई दिल्‍ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके कैबिनेट सहयोगी छह दिन से राजनिवास पर धरना दे रहे हैं. उनके इस धरने की वैधानिकता पर अब दिल्ली हाई कोर्ट ने भी सवाल उठा दिए हैं. अदालत ने पूछा है कि अगर यह हड़ताल है तो किसी के घर ...

Read More »

अरविंद केजरीवाल का धरना: आखिर कांग्रेस के दिल में क्या है?

राकेश कायस्थ देश की राजधानी दिल्ली में अचानक विपक्षी एकता का जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला. नीति आयोग की बैठक में आए 4 राज्यों (पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और केरल) के मुख्यमंत्रियों ने उपराज्यपाल-दिल्ली सरकार विवाद में अरविंद केजरीवाल का साथ देने का खुला एलान कर दिया. इन मुख्यमंत्रियों ...

Read More »

‘मीडिया जो दिखाती है लोग वही देखते हैं, बाकी सब भूल जाते हैं’

पवन खेरा  मीडिया से लेकर राजनीतिक विश्लेषक तक, सब के सब आप को समर्थन ना देने पर कांग्रेस पार्टी की आलोचना कर रहे हैं. मीडिया के पास एक ऐसी ताकत है जिससे वह दर्शकों का ध्यान अचानक मोड़ देने में कामयाब हो जाती है. लिहाजा कई ऐसी बातें जो पहले महत्वपूर्ण होती हैं बाद में उससे ध्यान ...

Read More »

2020 तक ‘अवसाद’ हो जाएगी दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी बीमारी

राजेश श्रीवास्तव क्या हुआ जो हम किसी के जैसे नहीं हम जैसे है , वैसे ही अच्छे हैं हमारी अपनी पहचान है ,क्यों हम किसी की पहचान जैसे बने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने 2०16 में संसद में बताया था कि देश की छह फीसद आबादी मानसिक असंतुलन की ...

Read More »

विकास गया तेल लेने, आरक्षण के तवे पर सिकेंगी रोटियां 

कमलेश श्रीवास्तव लखनऊ। अब यह कोई खबर नहीं कि आगामी चुनाव में मोदी के मुकाबले मायावती होंगी। खबर यह है कि भाजपा आरक्षण की तलवार से ही आम चुनाव में मायावती का मुकाबला करेगी। डिजिटल इंडिया और विकास इस चुनाव में कहीं नहीं होंगे। जल्‍द ही आरक्षण की आंच में वोटबैंक ...

Read More »

बेईमान संयुक्त राष्ट्र और बेईमान पत्रकारिता को धिक्कार है…

प्रभात रंजन दीन भारतीय मीडिया में राष्ट्रहित की अक्ल होती तो क्या ऐसा होता! देश और समाज के हित में क्या छापना है, क्या नहीं छापना, इसकी सूझबूझ नैतिक अनिवार्यता है, लेकिन मीडिया का नैतिक सूझबूझ से क्या लेना-देना! अब देखिए न जिस दिन कश्मीर के वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी ...

Read More »

गया रेपकांड: बाहुबली RJD MLA सुरेंद्र यादव ने पार्टी की ‘प्लानिंग’ पर पानी फेर दिया

कन्हैया बेलारी  अति उत्साह में की गई असावधानी ने सारा गुड़गोबर कर दिया. पिछले 2 दिन से राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेतृत्व इसी बात का रोना रो रहा है. बात सही भी है. बिहार में एनडीए सरकार के खिलाफ बहुत ही तगड़ा मुद्दा विधायक सुरेंद्र प्रसाद यादव द्वारा की गई ...

Read More »

डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग उन के बीच हुई इस बैठक का सबसे ज्यादा फायदा चीन को हुआ

अभय शर्मा अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अतीत में कई बार उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन को ‘बहुत काबिल व्यक्ति’ बता चुके हैं. इसी तरह वे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के लिए ‘बहुत ख़ास व्यक्ति’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते रहे हैं. मंगलवार को सिंगापुर में ट्रंप ...

Read More »

पिटती और कप-प्लेट उठाती नौकरशाही, बाहरी टैलेंट से सिस्टम में सुधार कैसे होगा?

विराग गुप्ता देश की राजधानी दिल्ली में अफसरशाही महीनों से सांकेतिक हड़ताल पर है और राजनेता सियासी ड्रामा कर रहे हैं. देश के सभी राज्यों में सिस्टम सुधारने की बजाए अफसरों के दम पर नेताओं की राजशाही बरकरार है तो फिर बाहरी टैलेंट से सिस्टम में बदलाव कैसे होगा? यूपी ...

Read More »