Breaking News
Loading...

श्रीलंका क्रिकेट टीम की कप्तानी से हटाए गए एंजेलो मैथ्यूज ने पत्र लिखकर जताया विरोध

एशिया कप में श्रीलंकाई टीम की कप्तानी निभाने वाले अनुभवी एंजेलो मैथ्यूज़ से वनडे और टी20 टीम की कप्तानी वापस ले ली गई है. आपको बता दें कि एशिया कप 2018 में श्रीलंकाई टीम का प्रदर्शन बेहद खराब रहा था जिसकी वजह से श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने कड़ा फैसला लिया. मैथ्यूज़ 10 महीने तक ही टीम के कप्तान रह सके.

मैथ्यूज़ के स्थान पर अगले दौरे के लिए दिनेश चंडीमल को टीम की कमाल सौंपी गई है. आपको बता दें कि श्रीलंका टीम को 10 अक्टूबर से इंग्लैंड के खिलाफ 5 मैचों की वनडे सीरीज़ खेलनी है.

हालांकि एंजेलो मैथ्यूज़ ने उन्हें कप्तानी से हटाए जाने से निराश हैं और उन्होंने खत लिखकर इस फैसला पर विरोध दर्ज किया है.

श्रीलंका क्रिकेट टीम के खिलाड़ी एंजेलो मैथ्यूज ने उन्हें वनडे टीम के कप्तान पद से हटाए जाने पर निराशा जाहिर करते हुए श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (एसएलसी) को पत्र लिखा है. क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, मैथ्यूज ने कहा कि एशिया कप में टीम के खराब प्रदर्शन के मामले में उन्हें बलि का बकरा बनाया जा रहा है.

Loading...

इस फैसले से नाराज मैथ्यूज ने श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को लिखे पत्र में कहा, “शुक्रवार को हुई एसएलसी और कोचों की बैठक के बाद मुझे वनडे और टी-20 टीमों के कप्तान पद से हटने के लिए कहा गया. मैं पहले बेहद हैरान हुआ और मुझे ऐसा महसूस हुआ कि एशिया कप में टीम के खराब प्रदर्शन के मामले में उन्हें बलि का बकरा बनाया जा रहा है.”

मैथ्यूज ने कहा, “मैं एशिया कप में अफगानिस्तान और बांग्लादेश के खिलाफ मिली हार का जिम्मा उठाने के लिए तैयार हूं, लेकिन मुझे ऐसा लग रहा है कि मेरे साथ धोखा हुआ है और पूरा दोष मुझ पर डाला जा रहा है. सभी फैसले चयनकर्ताओं और मुख्य कोच के बीच आपसी सहमति से लिए गए. एसएलसी की ओर से दिए गए कारण के साथ मैं सहमत नहीं हूं. हालांकि, मैं चयन समिति और मुख्य कोच द्वारा मुझसे की गई अनुमति का सम्मान करता हूं.”

आपको बता दें कि एशिया कप में श्रीलंकाई टीम ग्रुप स्टेज में ही अपने दोनों मुकाबले गंवाकर बाहर हो गई थी. इसमें सबसे हैरानी बात तो ये रही कि वो अपने से नीचे रैंक वाली टीम अफगानिस्तान से भी हार गई थी.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *