Thursday , October 19 2017
Breaking News

अमेरिका ने किया शक्ति प्रदर्शन, उत्तर कोरिया के ऊपर उड़ाया बॉमर

वॉशिंगटन। अमेरिकी वायु सेना के B-1B लैंसर बॉमर और फाइटर शनिवार को उत्तर कोरिया के ईस्टर्न कोस्ट के ऊपर अंतरराष्ट्रीय हवाई क्षेत्र से गुजरे। ऐसा पेंटागन की ताकत को दिखाने के लिए किया गया। यह हवाई गश्ती शनिवार को उत्तर कोरिया के परमाणु साइट पर भूकंप के हल्के झटके महसूस किए जाने के बाद की गई है। ऐसी आशंका है कि प्योंगयांग ने कुछ सप्ताह के भीतर ही दूसरी बारी परमाणु परीक्षण किया है।

इधर, हवाई गश्ती के संबंध में पेंटागन का कहना है कि यह अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के पास मौजूद कई सैन्य विकल्प को दिखाने का अभियान था जिसे उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम से उपजे गंभीर खतरे से निपटना है। पेंटागन के प्रवक्ता ने बताया, ‘यह असैन्य जोन के एकदम उत्तरी छोर पर गया और 21वीं सदी में ऐसा करने वाला यह अमेरिका का पहला बॉमर या फाइटर है। हमने दिखाने की कोशिश की है कि हम उत्तर कोरिया के लापरवाह रवैये को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं।’

बता दें कि इससे ठीक पहले गुरुवार को उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो ने चेतावनी दी थी कि प्योंगयांग हाइड्रोजन बम का परीक्षण कर सकता है जिसका प्रशांत क्षेत्र में व्यापक असर होगा। जब उनसे पत्रकारों ने उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण के संबंध में सवाल पूछा तो उन्होंने कुछ भी जवाब नहीं दिया।

उत्तर कोरिया में शनिवार को 3.4 तीव्रता का भूकंप आया। आशंका जताई जा रही है कि उत्तर कोरिया लगातार परमाणु और मिसाइलों का परीक्षण कर रहा है। अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण यानी यूएस जिऑलजिकल सर्वे (USGS) ने कहा कि वह यह पुष्टि करने की स्थिति में नहीं है कि उत्तर कोरिया में 3.5 तीव्रता का भूकंप नैचरल है या परमाणु परीक्षण का नतीजा। USGS ने बताया कि भूकंप का केंद्र सुंगजीबैगम के उत्तर-पूर्वोतर में 22 किलोमीटर दूर था जो उत्तर कोरिया के मुख्य परमाणु परीक्षण स्थल के पास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *