Thursday , October 19 2017
Breaking News

INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया पर टीम इंडिया की दूसरी जीत, विराट ब्रिगेड बनी वनडे की बादशाह

कोलकाता। कोलकाता वनडे भी टीम इंडिया ने अपने नाम कर लिया है. पांच मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेला गया, जिसे भारत ने 50 रन से जीत लिया है.

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 253 रनों का लक्ष्य दिया. जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम 43.1 ओवरों में 202 रन बना कर ऑलआउट हो गई. इस मैच में कुलदीप यादव ने हैट्रिक विकेट लेकर एक कीर्तिमान अपने नाम कर लिया, वो पहला ऐसा भारतीय स्पिन गेंदबाज बने जिसने वनडे में लगातार तीन विकेट झटके.

ऑस्ट्रेलिया के विकेट्स

ऑस्ट्रेलिया की टीम जब भारत के दिए 253 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तो उनकी शुरुआत बेहद खराब रही. 2 रन के स्कोर पर हिल्टन कार्टराइट को भुवनेश्वर कुमार ने बोल्ड कर दिया. उसके बाद दूसरा विकेट भी भारत को जल्दी मिल गया. जब 9 रन के स्कोर पर भुवनेश्वर ने डेविड वॉर्नर को रहाणे के हाथों कैच करवा दिया. तीसरे विकेट के रूप में ट्रेविस हेड आउट हुए, हेड 39 रन बनाकर चहल का शिकार हुए.

टीम इंडिया ने बनाए 252 रन

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया 50 ओवर में 252 रन बनाकर ऑल आउट हो गई. भारत के लिए विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 92 रन बनाए जबकि अजिंक्य रहाणे ने 55 रनों की पारी खेली. अजिंक्य रहाणे और विराट कोहली ने साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 102 रन की पार्टनरशिप की. ऑस्ट्रेलिया की ओर से नेथन कुल्टर नाइल और केन रिचर्डसन ने 3-3 विकेट लिए.

पोंटिंग का रिकॉर्ड तोड़ने से चूके कोहली

विराट कोहली अपने 31वें वनडे शतक से महज 8 रन से चूक गए. उन्हें नेथन कुल्टर नाइल ने क्लीन बोल्ड कर दिया. अगर आज विराट कोहली शतक जड़ देते तो रिकी पोंटिंग के 30 वनडे शतक के रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ देते. कोहली 107 गेंदों पर 92 रन बनाकर आउट हुए.

भारत के विकेट्स

भारतीय टीम को पहला झटका रोहित शर्मा के रूप में लगा, जब वह 7 रन के निजी स्कोर पर नेथन कुल्टर नाइल की गेंद पर कैच आउट हुए. कुल्टर नाइल ने अपनी ही गेंद पर रोहित शर्मा का कैच पकड़ा. रोहित जब आउट हुए उस समय टीम इंडिया का स्कोर 19 रन था.

टीम इंडिया को दूसरा झटका 23.4 ओवर में अंजिक्य रहाणे (55) के रूप में लगा. वे अर्धशतक जड़कर रन आउट हो गए. रहाणे ने आउट होने से पहले विराट कोहली के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 102 रन की पार्टनरशिप की. कुछ देर बाद तीसरा विकेट भी गिर गया. 27.2 ओवर में एश्टन एगर ने मनीष पांडे को बोल्ड कर दिया.

केदार जाधव के रूप में भारत को चौथा झटका लगा. जाधव 35.3 ओवर में नेथन कुल्टर नाइल की बॉल पर मैक्सवेल को कैच देकर आउट हो गए. पांचवां विकेट कप्तान विराट कोहली का रहा. उन्हें शतक पूरा करने से केवल 8 रन पहले नेथन कुल्टर नाइल ने बोल्ड कर दिया. उस वक्त टीम का स्कोर 197 रन था. कुछ देर बाद ही पूर्व कप्तान एमएस धोनी भी आउट हो गए. वे 39.1 ओवर में केन रिचर्डसन की बॉल पर स्टीव स्मिथ को कैच दे बैठे.

सातवां विकेट भुवनेश्वर कुमार का रहा, जो 239 के स्कोर पर आउट हो गए. वे केन रिचर्डसन की बॉल पर मैक्सवेल को कैच दे बैठे. कुलदीप यादव खाता खोलने से पहले ही 48.2 ओवर में कमिन्स की बॉल पर मैथ्यू वेड को कैच देकर आउट हो गए. नौवें विकेट के रूप में हार्दिक पंड्या (20) आउट हुए. 49.1 ओवर में रिचर्डसन की बॉल पर वॉर्नर ने उन्हें कैच कर लिया. आखिरी विकेट के रूप में युजवेंद्र चहल (1) 49.6 ओवर में रन आउट हो गए.

इससे पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. टीम इंडिया में कोई बदलाव नहीं हुआ है जबकि ऑस्ट्रेलिया की टीम में 2 बदलाव हुए हैं. जेम्स फॉल्कनर और एडम जाम्पा की जगह केन रिचर्डसन और एश्टन एगर को मौका मिला है. चेन्नई वनडे जीतकर सीरीज में 1-0 से बढ़त लेने के बाद टीम इंडिया की नजरें अब कोलकाता में भी जीत दर्ज करने पर होगी.

ईडन गार्डन में भारत और ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड

रंगीन कपड़ों में भारतीय टीम के ईडन गार्डन्स में रिकॉर्ड की बात की जाए तो उन्होंने 22 मैच खेले हैं जिनमें से 11 में उन्हें जीत मिली है. वहीं ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड शत प्रतिशत है. यह वही मैदान है, जहां ऑस्ट्रेलिया ने 1987 में इंग्लैंड को 7 रनों से हरा कर अपना पहला वर्ल्ड कप उठाया था. ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी बार इस मैदान पर भारत के खिलाफ 2003 में वनडे मैच खेला था, जहां टीम इंडिया को 37 रनों से हार का सामना करना पड़ा था.

दोनों टीमें

ऑस्ट्रेलिया : डेविड वॉर्नर, हिल्टन कार्टराइट, स्टीव स्मिथ (कप्तान), ट्रेविस हेड, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), एश्टन एगर, केन रिचर्डसन,पैट कमिंस और नेथन कुल्टर नाइल.भारत : रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, विराट कोहली(कप्तान), मनीष पांडे, केदार जाधव, एमएस धोनी(विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, यजुवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *